Keyboard क्या है?What is Keyboard in Hindi

आज हम जानेंगे कि keyboard क्या है, क्युकी बहुत लोगोने कीबोर्ड देखा होगा और बहत लोगोने कंप्यूटर या फिर लैपटॉप को इस्तेमाल करते बक्त कीबोर्ड को जरुर इस्तेमाल किया होगा typing करने के लिए.

लेकिन ये नही पता हे की what is keyboard in hindi? कीबोर्ड कितने प्रकार के होते है.तो आज के इस post में हम जानेंगे की कीबोर्ड क्या होता है और कितने प्रकार के होते है,कैसे इससे इस्तेमाल किया जाते है,कीबोर्ड में कितना key होते है और कोनसा key का क्या काम है.

तो ये आर्टिकल उन लोगो के लिए बहुत हेल्पफुल होगा जिन्हें ये समझना मुश्किल है की keyboard kya hai hindi.

अगर आप कंप्यूटर इस्तेमाल करते हो तो आपको जरुर पता है की कीबोर्ड को data entry और typing करने के लिए इस्तेमाल किया जाता है.तो बहत लोगो के मन में कीबोर्ड को लेकर बहत परेशानी हे की आखिर what is keyboard in hindi.तो चलिए सुरु करते है.

HTML क्या है पूरी जानकारी in Hindi

कंप्यूटर कीबोर्ड क्या है – What is Computer keyboard in Hindi

keyboard kya hai

कीबोर्ड का इस्तेमाल मुख्य रूप से कंप्यूटर में text,numeric data entry करने के लिए इस्तेमाल किया जाता है.यूजर कीबोर्ड और माउस के माध्यम से जो भी बोलता है उस के हिसाब से कंप्यूटर काम करते है.

हलाकि कीबोर्ड एक Input Device है.बिना Keyboard के computer का कोई मुल्लो नही होता है.

Input Device के माध्यम से जो भी data enter होता है,उसको machine आपने language में बदल देता है ताकि CPU उस data और instruction को समझ सके.Enter किया data को CPU process करके output device जैसे मॉनिटर और प्रिंटर के माध्यम से रिजल्ट दिखाता है.

Keyboard माउस की तरह ही computer मै input किया जाते है.बिना माउस के कंप्यूटर मै बहत सरे काम किया जा सकता है लेकिन बिना keyboard के कंप्यूटर मै कोई भी काम करना असंभव है.हलाकि computer मै काम करने का मतलब होता input device दुवारा data को enter करना.

Computer Keyboard History in Hindi-कंप्यूटर कीबोर्ड का इतिहास

सन 1868 में Christopher Latham Sholes ने आधुनिक कंप्यूटर कीबोर्ड का आविष्कार किया था.कंप्यूटर कीबोर्ड का इतिहास ज्यादा पुराना नही है.सबसे पहले टाइपराइटर को इस्तेमाल किया जाता था,उसके बाद ही आधुनिक कीबोर्ड का आविष्कार हो गया.

How to Connect Keyboard to Computer in Hindi-कीबोर्ड को कंप्यूटर से कैसे कनेक्ट करते है?

कंप्यूटर के साथ कीबोर्ड को connect करना अभी के समय में बहत आसान है.अगर आप USB port बाला कीबोर्ड इस्तेमाल करते हो तो कंप्यूटर ऑफ रहते वक्त ही आपको कीबोर्ड की USB तार को कंप्यूटर में लगाने के बाद ही कंप्यूटर को चालू करना होगा.

पहले के समय में कीबोर्ड को connect करने के लिए PS/2 और serial connector का इस्तेमाल किया जाता था.अभी तो wireless keyboard इस्तेमाल हो रहा हे.और इसे इस्तेमाल करना बहुत आसान है.लेकिन wireless कीबोर्ड का एक disadvantage है की इसका इस्तेमाल किये हुए battery बार बार बदलना पड़ता है.

कीबोर्ड को हिंदी मै क्या कहते है?

आप सभी लोगोने कंप्यूटर को इस्तेमाल किया होगा कुछ लोग कंप्यूटर को देखा भी होगा.तो आप लोगो को तो पता ही होगा की कंप्यूटर में कीबोर्ड से टाइप होके data input होते है.लेकिन किसके माध्यम से type होके data कंप्यूटर मै जाते है.क्या आपको पता है?

आप लोग कहो गे की कीबोर्ड से टाइप किया जाते है.हम सभी को पता है की ए कीबोर्ड है और कीबोर्ड तो एक इंग्लिश सब्द है लेकिन क्या आपको ए पता है की कीबोर्ड को हिंदी मैं क्या कहा जाता है?

Actually कीबोर्ड को हिंदी में कुंजीपटल कहते है.

कंप्यूटर कीबोर्ड कैसे काम करता है?

कीबोर्ड एक Input Device के साथ साथ ये एक hardware device भी है.यूजर के निर्देश अनुसार काम करता है.जब हम कीबोर्ड मै कुछ टाइप करते है जैसे की मान लीजिये आपने A टाइप किया तो टाइप करते वक्त एक switch press होता है.और इसके निर्देश अनुसार कंप्यूटर तक data पोहाचता है.

हम कीबोर्ड मै जो भी बटन प्रेस करते है ठीक उसके निचे छोटे छोटे बटन के आकार के जैसा grid बना होता है इसे key matrix कहा जाता है.Circuit system के एक बड़े पार्ट से key matrix बनता है.

जब आप A बटन प्रेस किया तो एक current flow होके vibration होगा जिसका पता processor को होगा तब बो key matrix मै इसके circuit location को ROM के character चार्ट से मिलाएगा फिर उसे पता चल जायेगा की कोण सा बटन press हुवा.इस तरासे तुरंत display मै output मै A लिखा आ जायेगा.

Types of keyboard in Hindi – कीबोर्ड कितने प्रकार के होते है?

अगर कीबोर्ड के टाइप के बारे मै बात करे तो इसका उपयोग के अनुसार अलग अलग तरह के होते है.बैसे तो आपने साधारण दो तरह की कीबोर्ड देखा होगा एक Laptop मै और दूसरा Desktop मै.लेकिन इसके अलाबा बहुत सारे कीबोर्ड मोजूद है जैसे की gaming keyboard,numeric keyboard,thumbsize keyboard,corded keyboard,foldable keyboard इत्यादी.

तो इतने प्रकार के कीबोर्ड को कंप्यूटर से connect करने के लिए अलग अलग के USB ओर PS/2  की जरुरत पड़ती है.

तो चलिए देखते है इन सारे keyboard के बारे मै.

Gaming Keyboard

अभी तो गेमिंग कीबोर्ड की चाहिदा बहुत बड़ गया है क्युकी गेम खेलना बहुत लोग पसंद करता है और गेम से पैसे भी कमा रहा है.तो गेमिंग कीबोर्ड मै नार्मल कीबोर्ड की समान keys होते है बस कुछ एक्स्ट्रा keys दिए जाते है.

गेमिंग कीबोर्ड मै एक्स्ट्रा keys दिए जाते है जैसे की illuminated keys,multimedia keys,और एक LCD screen भी दिया जाते है.

इस illuminated keys का उपयोग किया जाता है रात को गेम खेलने के लिए.जब रात को गेम खेलते बक्त कीबोर्ड ठिक से नही दिखाया देता है तब illuminated कीबोर्ड काम आता है.गेम खेलते बक्त multimedia key म्यूजिक बदलने के लिए काम आता है.

Laptop Keyboard

Laptop में जो कीबोर्ड दिया जाते है बो QWERTY version का कीबोर्ड होता है.लैपटॉप में हलाकि उसका body के साइज़ के अनुसार keys दिया जाते हे.नार्मल कीबोर्ड की तरह ही इनमे सभी keys दिए जाते है लेकिन कुछ space की कमी की वजा से थोड़ा कम key होते है.

लेकिन Laptop कीबोर्ड मै कुछ एक्स्ट्रा keys भी दिए जाते है,उनमे से power button,volume button,mute button,brightness button इत्यादी होता हे.

Laser Keyboard

दुनिया के सबसे लेटेस्ट टेक्नोलॉजी कंप्यूटर में इस्तेमाल किया जाते है.लेज़र कीबोर्ड टेक्नोलॉजी light के रूप में flat suface में प्रोजेक्ट किया जाते है.इसका light प्रोजेक्ट को flat होने के लिए टेबल के जरुरत पड़ती हे.

टेबल में बनी कीबोर्ड में टाइपिंग करके words को कंप्यूटर में input किया जा सकता है.लेज़र कीबोर्ड जब आयेगा तब एक्स्ट्रा कीबोर्ड की जरुरत नही होगा.हलाकि लेज़र technology अभी ट्रायल पे है.इसीलिए अभी इसका उपयोग नही कार सकते हो.

Rollup Keyboard 

इस कीबोर्ड का नाम सुनके ही आपको पता चल जायेगा की ए कैसा होगा.Rollup Keyboard आने में जो लोग travelling करते है उनका बहत फ़ायदा हुवा है.जब चाहो इसे आप फोल्ड करके रख सकते हो और जरुरत अनुसार रोल खोलके इसे उपयोग कार सकते हो.

ये कीबोर्ड silicon और polyurethane मटेरियल से बनाया जाता है.इसका यही फ़ायदा है की आसानी से रोल कर सकते हो.लेकिन बिलकुल फोल्ड नही कार सकते हो,क्युकी फोल्ड करने से इसका circuit डैमेज हो सकता है.लेकिन रोल होने के बजा से इसे कैर्री करना बहत आसान है.

तो चलिए keyboard क्या है में आगे बड़ते है.

Types of Keys-Keys की प्रकार

keyboard क्या है

अभी में आपको बताऊंगा की एक सामान्यो keyboard मै कितने प्रकार का keys स्तिथ होता है.अलग अलग keyboard मै इस्तेमाल होता है अलग अलग कार्यो के लिए.कीबोर्ड की कार्यो के अनुसार सभी keys अलग अलग हिस्सों मै वाटा गया है.चलिए इसके बारे मै जानते है.

1.Typing Keys

2.Function Keys

3.Navigation Keys

4.Indicates Keys

5.Controls Keys

6.Numeric Keys

7.Puntuation

1.Typing Keys

Typing keys मै दोनों तरह की keys होते है Alphabet  A – Z और Number 0 – 9 तक होते है और इनके उप्पर कुछ sign होते है(!,@,#,$,%,^,&,*).इस प्रकार का keys Alphanumeric नाम से परिचित है.दुनिया मै सबसे ज्यादा इन्ही keys को इस्तेमाल किया जाता है.इनको कुछ लोग टाइपराइटर keys भी कहते है.

2.Function Keys

Function Keys Keyboard के सबसे ऊपर लाइन मै होता है.सामान्य कीबोर्ड मै इनकी संखा F1 – F12 तक होता है.इनका प्रोयोग software के बिशेष कार्यो करने मै इस्तेमाल होते है.Software की सभी program मै इनका अलग कार्यो होता है.Excel मै इसका उपयोग होता है.

3.Navigation Keys

इस प्रकार का keys कीबोर्ड के साइज़ के हिसाब से कम या ज्यादा होता है.इसमे सामिल है Arrow key,End Key,Home key,Page Up,Down Keys.इनको ज्यादातर page up down के लिए इस्तेमाल किया जाते है.कुछ हद तक इस प्रकार का कीबोर्ड mouse का भी कम करता है.

4.Indicates Lights

Keyboard तिन प्रकार कि Indicates lights होता है,Num Lock light,Caps Lock light और Scroll Lock light.

पहली light जली तो इसका मतलब है की Numeric Keypad चालू होगा.दूसरी light जली तो इसका मतलब आपका Letter Alphabet मै होगा.और तीसरी light जली तो इसका मतलब Scroll Lock यानिकी Scrolling के बारे मे संकेत देता है.

5.Controls Keys

Controls keys मै शामिल है Ctrl ,Alt, Shift, Insert, Prt sc, Scroll, Window, Menu, Esc और Pause Break key.बिशेष कार्यो करने के लिए किसी अन्य keys के साथ इस्तेमाल किया जाता है.किसी अन्य keys के साथ इस्तेमाल होने से उसका कार्यो बदल जाता है.

6.Numeric Keys

इस प्रकार का keys मै शामिल होता है number  0 – 9 ,Enter, और कुछ sign (+,/,*,-).इस keys को इस्तेमाल करने के लिए आपको Num Lock को on करना होगा.इसमें 2,4,8,और 6 number navigation keys के रूप से भी इस्तेमाल किया जाता है.

7.Puntuation Keys

जिन keys के साथ puntuation relate करता है उसे puntuation keys कहा जाता है.जैसे की “comma key’,”colon keys”,”question mark keys’’ और “period keys”.तो ये puntuation keyboard के right साइड में स्तिथ होते है.puntuation keys का एक और काम होता हे की अगर आप puntuation keys को होल्ड करके shift को दबाके दुसरे function को भी इस्तेमाल कर सकते हो.

कुछ Useful Keys बारे मे जानकारी

Windows Key:यह start Menu को Open करने के लिए है और shortcut के लिए अन्य keys के साथ भी इस्तेमाल किया जाता है.

Ctrl key:Ctrl key मुख्य रूप से shortcut के लिए इस्तेमाल किया जाता है.जैसे की अगर Ctrl को होल्ड करके A press किया जाता है(Ctrl+A) तो पूरा content select हो जायेगा.

Alt Key:Alt key भी Ctrl key की तरह ही इस्तेमाल किया जाता है.

Esc key:Esc key को किसी text को clear करने के लिए इस्तेमाल किया जाता है.

Tab key:Tab key केबल कर्सर को एक बॉक्स से अगले बॉक्स तक ले जाते है.

Menu key:Menu key किसी चुने हुये program की बिकल्पो को open करता है और Menu key माउस की Right Click के मुताबक कार्य करता है.

Caps Lock Key:इस बटन की उपयोग होता है सभी letters को Uppercase और Lowercase मै लिखने के लिए.

Shift Key:Shift Key का इस्तेमाल किया जाता है किसी बटन के ऊपर बाले हिस्से को टाइप करने के लिए.इसके अलाबा किसी letters को uppercase मै लिखने के लिए भी इस्तेमाल किया जाता है.कीबोर्ड मै Shift बटन दो होता है.

Enter Key:Enter Key का इस्तेमाल किया जाता है typing करते वक्त अगले लाइन को शुरू करने के लिए.Enter key Ok बटन का भी कार्य करता है.

Spacebar:सामान्य keyboard मै सबसे बड़ा key होता है spacebar key.इसका कार्य होता है curser को एक space देता है.

Backspace Key:मुख्य रूपसे Backspace का काम होता है curser को पीछे लाने के लिए और select किया हुए text को delete करने के लिए.

Navigation Keys का उपयोग

  • Home Key

Home key का इस्तेमाल curser को शुरुआत मै लाने के लिए किया जाते है.इसके अलाबा एक document के एकदम शुरुआत ला सकता है.

  • Arrow Key

Arrow Key मतलब Up Arrow, Down Arrow, Left Arrow और Right Arrow.इसका उपयोग curser को सठिक दिशा देने के लिए किया जाता है.

  • Insert Key

Insert key का इस्तेमाल किया जाता है Insert mode को On / Off करने ने के लिए.

  • End Key

End key को इस्तेमाल किया जाता है किसी Document मै curser को एकदम अंतिम यानिकी निचे की हिस्से मै ले जाने के लिए.

  • Delete Key

Delete key को select हुआ text को और किसी भी files को Delete करने के लिए इस्तेमाल किया जाता है.

Keyboard Layout

अब बताऊंगा की Keyboard Layout क्या है.अगर आपको पाता है की keyboard layout क्या है तो अच्छा है और अगर आपको नही पता है तो चलिए मै आपको बता देता हु कि keyboard layout क्या है.

अलग अलग भाषा के हिसाब से कीबोर्ड की बनाबट भी आपने हिसाब से किया जाता है.सभी बटन्स को अपने हिसाब से adjust किया जाता है.

आज कल बहुत layout की types के keyboard बनाया गया है अपने हिसाब से इस्तेमाल करने के लिए.जैसे की QWERTY, QWERTZ और ALZERTY लेकिन इन मै से सबसे ज्यादा इस्तेमाल होता है QWERTY layout.चलिए इसके बारे मै थोड़ा जानकारी जन लेते है.

QWERTY

इस Layout के नाम देख के आप समझ सकते हो की keyboard की सबसे ऊपर लाइन के पहले 6 letter को लेके बनाया गया है.इस प्रकार के layout आप मोबाइल मै भी type करते समय देख सकते हो.इस प्रकार के layout दुनिया मै सबसे ज्यादा इस्तेमाल होता है.

AZERT

इस प्रकार के layout सबसे ज्यादा फ्रांच के लोग इस्तेमाल करते है.क्युकी computer और typewriter मै Latin अल्फाबेट के लिए इस प्रकार के Layout स्पेशल मन जाता है.

QWERTZ

QWERTZ और QWERTY Layout के बिच मै सिर्फ एक letter ‘ Y ‘ के जगा ‘ Z ‘को replace किया गया है.इसका कारन है की जर्मन भाषा मै “Y“ letter से ज्यादा “Z” letter को अधिक इस्तेमाल किया जाता है.

आज आपने क्या सिखा

मेरा हमेशा एही कौशिश रहता है की हमेशा नया नया चीजे के बारे जानकारी प्रदान करू ताकि आप लोग इस तारा का आर्टिकल पड़के कुछ सिख सकते हो और कुछ जानकारी हासिल कर सकते हो.तो आजका लेख Keyboard क्या है in hindi और कितने प्रकार का है आपको कैसा लगा मुझे आप comment करके जरुर बताएगा.

अगर आपके मन इस लेख what is keyboard in Hindi को लेके कोई भी सवाल हो तो आप मुझे पुच सकते हो.मै उसका समाधान जरुर निकालने की कौशिश करूँगा.आपके बिचारो से मुझे भी कुछ सिखने और शुधारने की मौका मिलेगा.इस आर्टिकल को जरुर शेयर करियेगा.और आपना खयाल रखिये गा.

फेसबुक पेज

 

Leave a Comment