Banyan tree in hindi उपयोग | Bargad ka ped

Banyan tree in hindi

Banyan tree in hindi में आप सभी को स्वागत करता हु. आज हम जानेंगे की banyan tree यानिकी Bargad ka ped किसे कहा जाता है और इस पेड़ का क्या क्या उपोयग होता है हमारे जीबन में.

साधारण भाषा में banyan tree यानिकी bargad ka ped को बड़ के पेड़ भी कहा जाता है. लेकिन क्या आप को पता है की ये पेड़ दिखने में जितने बड़े दीखते हे उतना ही बड़े बड़े रोगों के इलाज करने के लिए इस्तेमाल किये जाता है.

Banyan के पेड़ एक ओशोधी के रूप में इस्तेमाल किये जाते है. इस पेड़ के सभी चीजे जैसे की फल, छाल, बीज से कफ, बात, पित्त के कठिन से कठिन बीमारी के इलाज के लिए उपयोग किया जाता है. तो चलिए शुरू करते है.

Banyan tree क्या है in hindi| Bargad ka ped in hindi?

आप सबने इस बरगद के पेड़ को बहुत नजदिग से देखा होगा. ये पेड़ बिशाल आकार के शाखाओ के साथ होता है. ये पेड़ बहुत ज्यादा लम्बे होने के लिए दूर तक छाया देता है. और लोग इसके निचे आराम करने लिए बेठता है.

इस पेड़ का एक नही बल्कि बहुत सारे फायदे हे जो की में आपको आगे बताऊंगा ताकि आपको भी इसके बारे में पता चले और हो साके तो आपने जीबन में इसका उपयोग कर साको. तो चलिए देखते है Banyan tree in hindi.

Banyan tree meaning in hindi | About banyan tree in hindi

Banyan tree in hindi में बट, बर, बरगद कहा जाता है. और English में इसे ईस्ट इंडियन फिग ट्री कहा जाता है.

Banyan tree benefits in hindi | बरगद पेड़ का फायदे क्या है?

आप जितने भी पेड़ देखे हो उनमे से सभी पेड़ किसी ना किसी काम के लिए उपयोग किया जाता है. कोई पेड़ ऑक्सीजन देते है तो कही पेड़ विभिन्न रोगों के इलाज के लिए उपयोग किया जाते है.

ठीक बैसे ही बरगद के पेड़ के भी बहुत सारे फायदे हे. जिब में से केबल मनुष्य ही बीमार होने के बाद डॉक्टर के पास जाके दवाई लेते है. लेकिन बाकी सारे जिबो को दबी लेके मी जरुरत नही होता है. बो सारे पेड़ के पत्ते खाते है और बीमारी से दूर रहता है.

मनुष्य भी इसी तरीके से बहुत सारे बीमारी से दूर रह सकता है अगर सही तरीके से सही जानकारी हो तब. तो चलिए देखते है की Bargad ka ped का फायदे क्या है.

रोग प्रतिरोधक क्षमता बड़ाता है

बिशोशाग्यो के मुताबिक बरगद पेड़ के पत्ते में क्लोरोफार्म, ब्युटेनॉल, हेक्सेन की मौजूदी होता है. ये सभी तत्व शारीरिक रूप से रोग प्रतिरोधक क्षमता बड़ाता में सहायक साबित होता है. तो इसीलिए हम  शारीर की रोग प्रतिरोधक क्षमता बड़ाने के लिए बरगद पेड़ के पत्ते को शेबन कर सकते है.

बालों की समस्या दूर करने में उपयोग

अगर किसी का बलों के लेकर कोई भी समस्या हो तो उनके लिए ये पेड़ बहुत अच्छा शाबित होगा. बरगद पेड़ के कोमल पत्ते के रस में सरसों का तेल मिला कर थोड़ा सा गरम करना होगा. उसके बाद उस तेल को ठन्डे करके शेर में लगाने से बालो की सभी प्रकार के समस्या दूर हो जायेगा और शुन्दर दिखेगा.

आखो की समस्या समाधान करे

ब्याज्ञानिक की रिसर्च में ये पाया गया है की अगर किसी को आखो की समस्या है तो उसके लिए भी बरगद की पेड़ में इलाज हो सकता है. इस पेड़ में या पत्ते में जो भी रस होता होता उसे अगर सही तरीके से इस्तेमाल किया जाता है तो आखो की समस्या दूर हो जायेगा. लेकिन इसे इस्तेमाल कर ने से पहले आप जरुर दोक्टोरो का सलाह ले.

दात और मसूड़ो की समस्या दूर  

बरगद के पेड़ में स्तिथ माइक्रोबियल और एंटीओक्सिडेंट में बैक्टीरिया को नस्ट करने का शमता रखता है. इसीलिए अगर आपके दातों में या मसूड़ो में कोई भी समस्या हो तो तो इसे दूर करने में सहायक होता है. अक्सर देखा जाता है की इसके शाखओ को काटकर अगर दातों से चिबकर नरम करके अगर मंजन किया जाता है तो दातों की सारे समस्य दूर हो सकता है. काफी लोगोको इसे इस तरह से इस्तेमाल करे के काफी फायदा हुवा है.

डायबीटीज की समस्या दूर करने मददगार

इस पेड़ के मदद से डायबीटीज जैसे कठिन बीमारी को भी ठीक किया जा सकता है. इस पेड़ के जड़ को इस्तेमाल करके ब्लड सुगर को कम कियाजा सकता है. अगर कोई लोग ब्लड सुगर की समस्या में जुज रहा है तो उनके लिए पेड़ की जड़ का अर्क पीना बहुत जरुरी है. इसीसे ही ठीक होता है.

दाद, खुजली से रहत मिलता है  

किसी भी ब्यक्ति को ब्याक्टेरिया की इन्फेक्शन के कारन दाद, खुजली जैसे बीमारी की सामना करना पड़ता है. तो बरगद की पेड़ में एंटी माइक्रोबिल होने के कारन खुजली जैसे समस्या से रहत मिलता है. आपको पेड़ के पत्ते को लेकर जिस जगह में खुजली हुवा है वहा पे लगाने से आराम मिलता है और बहुत जल्द ही ठीक भी हो जाता है.

banyan tree in hindi

कोलेस्ट्राल की नियंत्रण

बरगद पेड़ की बहुत सारे गुण हे इस में से कोलेस्ट्रोल को नियंत्रण करना ये भी एक गुण है. अगर किसी को कोलेस्ट्राल की समस्या है तो उन्हें इस पेड़ की अर्क बनाकर सेबन करने से कोलेस्ट्रोल की मात्रा कम किया जा सकता है. बरगद की पेड़ की सभी चीजे जैसे की फल, जड़, पत्ते, छाल सभी किसी ना किसी काम का होता है.

जोड़ो की दर्द मिटाने में सक्षम

जोड़ो की दर्द मिटाने के लिए बरगद की पत्ते की बहुत जिक्र होता है. ये भी सुना गया है की शारीर में अगर रोग पतिरोध क्षमता कम होने के कारन जोड़ो में दर्द होता है. तो इसमें मौजूद एंटी इफ्लेमेटरी इसको रोकने में मदद करता है. इस पेड़ की पत्ते की सेबन करने में लाभ होता है.

चेहरे पर रौनक

बरगद पेड़ की जड़ो में सबसे ज्यादा एंटी अक्सिडेंट मोजूद होता है. तो इसी कारन अगर आपके चेहरे पे पिम्पल होने के कारन निशान हो जाता है तो उसे मिटाने में मदद मिलता है. जिसे आपके चेहरे को कोमल करता है और साथ साथ चेहरे पे रौनक लाने में मदद करता है. और एसे में कोई भी ब्यक्ति काफी जवान दीखता है.

बरगद पेड़ की नुकसान क्या है | side effect of banyan tree in hindi

अभी तक जितने भी जानकारी बिशेशाग्य दुवारा दिया गया है उसमे से किसी भी तरह का नुकसान की बाते नही किया गया है. लेकिन फिर भी इसका इस्तेमाल करने के समय बहुत सारे चीजो को ध्यान में रखना पड़ता है. तो चलिए देखते है की Banyan tree in hindi के नुकसान क्या क्या है.

  • अगर आप किसी भी प्रकार का समस्या में पड़ते हो तो आपको सीधे इसे इस्तेमाल नही करना चाहिए. भले ही ये सही तरीके से ठीक कर सकता है फिर भी आपको एक बार जरुर दोक्टोरो की सलाह लेना चाहिय यूसके बाद ही इसका प्रयोग करना है.
  • अगर आप इसे इस्तेमाल करते समय किसी भी प्रकार का समस्या का समुखिन होते हो तो आपको जल्दी ही इसका इस्तेमाल बंद कर देना चाहिए. जैसे की अगर इसे इस्तेमाल करते वक्त एलजी हो तो जल्दी इसका इस्तेमाल रोक देना चाहिए.

अभी तक मैंने आपको Banyan tree in Hindi के बारे में सभी तरह हा जानकारि देने की कौशिश किया. तो मुझे उम्मीद है की आपको ये आर्टिकल से bargad ka ped के बारे में जानकारी जरुर मिला होगा. आपको कैसा लगा मुझे comment करके बता सकते हो.

Water Pollution के बारे में जानकारी 

Leave a Comment